Tag: child

ज़िन्दगी की हकीकत से जो पाला पड़ा है। अहमियत बचपन की तब समझ आयी। जिस लड़कपन की चाह में बचपन बिताया, उस लड़कपन ने अच्छे से नानी याद दिलाई। ज़िम्मेदारियों की बेड़ियों ने पाँव जो जकड़ा, तो समझ आया कि पतंगों के मांजे क्यों कच्चे थे। बड़े हो गए यूँही बड़े होने की चाह में, […]

Read more

डर और बेचैनी का अजीब सा एहसास था मन में, 69वर्ष के जीवन में पहली बार वह शहर की इस तेज-तर्रार जिंदगी में कदम रखने वाले थे। पत्नी के गुजरने के बाद अब एकलौता बेटा ही उनका अंतिम सहारा था, और बेटा भी इस बात को भलीभांति समझता था, इसीलिये तो ट्रैन की टिकट भेजकर उसने पिता को […]

Read more
Skip to toolbar